08 मार्च से 17 मार्च तक चलेगी ‘जम्मू काश्मीर : एक नव विमर्श’ कार्यशाला

मेरठ विश्वविद्यालय में होगा जम्मू काश्मीर के मुद्दों पर मंथन

मेरठ, 04 मार्च। तथ्यपरक विवेचन और शोध के माध्यम से समस्या को समाधान की ओर ले जाना शिक्षा क्षेत्र का कर्तव्य है। सात दशक बीतने के बाद भी अगर समस्या जस की तस है तो यह राजनीति पर ही नहीं अकादमिक जगत पर भी प्रश्न चिन्ह है। इस समस्या को हल करने के लिए एक सार्थक पहल के रूप में चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय, मेरठ के इतिहास विभाग और जम्मू काश्मीर अध्ययन केन्द्र के संयुक्त तत्वाधान में दस दिवसीय राष्ट्रीय कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है। यह कार्यशाला 08 मार्च से शुरू होकर 17 मार्च तक चलेगी।

कार्यशाला की आयोजक प्रो. आराधना, विभागाध्यक्ष इतिहास विभाग ने बताया कि  इस कार्यशाला का उद्देश्य जम्मू काश्मीर की समस्या को तथ्यपरक विवेचन और शोध के माध्यम से समाधान की ओर ले जाना है। दस दिन तक चलने वाली इस कार्यशाला में जम्मू काश्मीर के ऐतिहासिक, भौगोलिक, राजनीतिक एवं सास्कृतिक विषयों के साथ ही कई अन्य मसलों पर मंथन होगा जिसमें अकादमिक जगत से जुड़े प्रमुख व्याख्याताओं के अलावा कई अन्य विषय विशेषज्ञ अपने विचार रखेंगे।

कार्यक्रम का उद्घाटन सत्र अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस को समर्पित है। पहले सत्र में जम्मू काश्मीर के तथ्यात्मक विवेचन के साथ ही वहां की महिलाओं की स्थिति पर चर्चा होगी। इस सत्र में दिल्ली की पत्रकार श्रीमती आभा खन्ना और दिल्ली विश्वविद्यालय की प्राध्यापक डॉ. सोनाली चितालकर अपने विचारों को रखेंगी। उद्घाटन सत्र की अध्यक्षता विश्विद्यालय के कुलपति प्रो. एन. के. तनेजा और कार्यशाला की विषय प्रस्तावना जम्मू काश्मीर अध्ययन केन्द्र के निदेशक आशुतोष भटनागर करेंगे। उद्घाटन सत्र में प्रो. के. के. शर्मा ( पूर्व विभागाध्यक्ष, इतिहास विभाग) विशेष तौर पर उपस्थित रहेंगे।

दस दिन तक चलने वाली इस राष्ट्रीय कार्यशाला में हिमाचल प्रदेश केन्द्रीय विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. कुलदीपचन्द्र अग्निहोत्री, सम्पूर्णानन्द संस्कृत विश्वविद्यालय के प्राध्यापक डॉ. रजनीश शुक्ल, जम्मू विश्वविद्यालय के (से. नि.) प्रो. के. एल. भाटिया, रक्षा विशेषज्ञ कैप्टन आलोक बंसल, सर्वोच्च न्यायालय के अधिवक्ता अनिरूद्ध राजपूत, संजय त्यागी, राजीव पाण्डेय, दिलीप दुबे के साथ ही प्रख्यात पत्रकार जवाहरलाल कौल सहित अन्य विषय विशेषज्ञ अपने विचार रखेंगे।

विषय- जम्मू काश्मीर : एक नव विमर्श

स्थान- सेमिनार हाल, इतिहास विभाग (चौ. चरण सिंह वि.वि. मेरठ)

दिनांक- 08 मार्च से 17 मार्च 2016

उद्घाटन सत्र- 08 मार्च, 11.30 बजे

कृपया उक्त कार्यक्रम में अपने सम्मानित पत्रकार और छायाकार बन्धुओं को भेजने की कृपा करें।

भवदीय

प्रो. आराधना

09012557088

[email protected]

विभागाध्यक्ष, इतिहास विभाग

चौ. चरण सिंह विश्वविद्यालय, मेरठ