(Jansampark Vibhag, Madhyapradesh) जम्मू-कश्मीर की वास्तविक स्थिति एवं तथ्यों से जन-सामान्य को अवगत करवाना जरूरी

मीडिया की भूमिका पर केन्द्रित राष्ट्रीय सेमीनार में जनसंपर्क मंत्री श्री राजेन्द्र शुक्ल ने कहा है कि गलत नीतियों के कारण जम्मू-कश्मीर के लोगों में अलगाववाद की दरार लगातार बढ़ती जा रही है। वहाँ रह रहे अल्पसंख्यक, मुख्य रूप से हिन्दुओं में सरकारी नीतियों के प्रति विश्वास कम हुआ है। श्री शुक्ल ने जम्मू-कश्मीर की वास्तविक स्थिति एवं तथ्यों से जन-सामान्य को मीडिया से अवगत करवाने का अनुरोध किया।

श्री शुक्ल आज भोपाल में जम्मू-कश्मीर की वास्तविकता एवं प्रतिमाएँ : मीडिया की भूमिका राष्ट्रीय सेमीनार को संबोधित कर रहे थे। सेमीनार माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता विश्वविद्यालय भोपाल, जम्मू-कश्मीर अध्ययन केन्द्र एवं इण्डियन मीडिया सेंटर नई दिल्ली द्वारा किया गया।

जनसंपर्क मंत्री श्री शुक्ल ने कहा कि स्व. पण्डित श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने एक विधान दो प्रधान नीति का विरोध किया था। उन्होंने विरोध स्वरूप सरकार से इस्तीफा भी दे दिया था। स्व. मुखर्जी ने आज से 60 वर्ष पूर्व जम्मू-कश्मीर में बनने वाले दुष्परिणामों के बारे में जो आशंका व्यक्त की थी, वह लगातार सही साबित हो रही है। आवश्यकता इस बात की है कि केन्द्र सरकार राष्ट्रीय एकता की खातिर अपनी वर्तमान नीतियों में परिवर्तन करे। उन्होंने कहा कि कश्मीर घाटी में आतंकवाद घटने का नाम नहीं ले रहा है। वहाँ अल्पसंख्यक के मानव अधिकार का हनन हो रहा है। कश्मीरी पण्डित विस्थापितों का जीवन बिताने को मजबूर हैं। केन्द्र सरकार के बजट की राशि का बड़ा भाग जो विकास कार्यों में खर्च होना चाहिये, वह आंतरिक सुरक्षा पर खर्च हो रहा है।

श्री राजेन्द्र शुक्ल ने कहा कि आज के दौर में मीडिया में भारी बदलाव आया है। मीडिया को जम्मू-कश्मीर की वास्तविक स्थिति से जन-सामान्य को अवगत करवाना चाहिये। युवाओं में जागरूकता लाकर उन्हें इस दिशा में कार्य करने के लिये प्रेरित करना चाहिये। मुख्य वक्ता डॉ. विश्वास चौहान ने जम्मू-कश्मीर में मानव अधिकार के हनन के मामलों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि वर्षों से रह रहे अन्य प्रदेश के नागरिक जम्मू-कश्मीर में नौकरी नहीं कर सकते, सम्पत्ति नहीं खरीद सकते। उन्हें आरक्षण नीति का जिस तरह से लाभ मिलना चाहिये, वह भी नहीं मिल पा रहा है। सचिव, मानव अधिकार आयोग न्यायमूर्ति कुलदीप जैन ने मानव अधिकार के बारे में जानकारी दी। उन्होंने आयोग की गतिविधियों के बारे में भी बताया। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. बृज किशोर कुठियाला एवं कुल सचिव श्री चंदर सोनाने ने अतिथियों का स्वागत किया। वार्षिक केलेण्डर का विमोचन जनसंपर्क मंत्री श्री राजेन्द्र शुक्ल ने सेमीनार में पत्रकारिता विश्वविद्यालय के वार्षिक केलेण्डर का भी विमोचन किया।

मुकेश मोदी

http://www.mpinfo.org/News/TodaysNews.aspx?newsid=20140124N22&LocID=1&PDt=1/24/2

014